Connect with us

Hindi News

Coronavirus in bihar: patna high court reprimand state government over worse corona condition – आपसे नहीं संभल रहा तो सेना को सौंप दें, कोरोना से बिगड़े हालात पर नीतीश सरकार को HC की फटकार

Published

on

Coronavirus in bihar: patna high court reprimand state government over worse corona condition – आपसे नहीं संभल रहा तो सेना को सौंप दें, कोरोना से बिगड़े हालात पर नीतीश सरकार को HC की फटकार


बिहार में कोरोना की बिगड़ती स्थिति पर HC ने राज्य सरकार को फटकारा.

नई दिल्ली:

देशभर समेत बिहार में भी कोरोनावायरस को लेकर हालात बिगड़ते जा रहे हैं. राज्य में हर दिन संक्रमितों का आंकड़ा बढ़ रहा है. वहीं कई पीड़ित लोग ऑक्सीजन और बेड की कमी से जूझ रहे हैं. बिहार में कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच पटना हाई कोर्ट ने राज्य सरकार को फटकार लगाई है. कोर्ट ने राज्य सरकार से पूछा है कि अगर आप से स्थिति नहीं संभल रही है तो क्या  कोविड का प्रबंधन सेना को सौंप देना चाहिए? अदालत ने कहा कि बार-बार आदेश देने के बावजूद स्थिति में कोई सुधार नहीं हो रहा है.

यह भी पढ़ें

कोर्ट ने यहां तक कह डाला कि ये शर्म की बात है कि हमारे बार-बार आदेश देने के बाद भी लोग मर रहे हैं. इस बीच राज्य में ना तो सरकारी अस्पताल और  न निजी अस्पताल में लोगों को बेड मिल रहा है और जो भर्ती हैं उन्हें पर्याप्त मात्रा में ऑक्सीजन भी नहीं मिल रहा है. 

बिहार में 15 मई तक लॉकडाउन

वहीं, बीते दिन कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए नीतीश सरकार ने बिहार में 15 मई तक संपूर्ण लॉकडाउन लगाने का ऐलान किया है. उन्होंने ट्विटर के माध्यम से इस फैसले की जानकारी दी. सीएम नीतीश के अनुसार सोमवार को सहयोगी मंत्रीगण और पदाधिकारियों के साथ चर्चा के बाद बिहार में फिलहाल 15 मई, 2021 तक लॉकडाउन लागू करने का निर्णय लिया गया है.



Source link

Hindi News

Cyclone Tauktae Likely To Intensify In Next 24 Hours, Rescue Teams Deployed In 6 States – चक्रवात तौकते के अगले 24 घंटे में और तेज होने की संभावना, 6 राज्यों में बचाव दल तैनात

Published

on

Cyclone Tauktae Likely To Intensify In Next 24 Hours, Rescue Teams Deployed In 6 States – चक्रवात तौकते के अगले 24 घंटे में और तेज होने की संभावना, 6 राज्यों में बचाव दल तैनात


Cyclone Tauktae Likely To Intensify In Next 24 Hours, Rescue Teams Deployed In 6 States – चक्रवात तौकते के अगले 24 घंटे में और तेज होने की संभावना, 6 राज्यों में बचाव दल तैनात

Cyclone Tauktae: गुजरात के तट पर 17 मई की शाम तक पहुंचने का पूर्वानुमान है

नई दिल्ली:

Cyclone Tauktae: चक्रवात ‘तौकते’ के अगले 24 घंटों के दौरान और तेज होने की संभावना है. मौसम विभाग के ताज़ा रिपोर्ट के मुताबिक इसके गुजरात के तट पर 17 मई की शाम तक पहुंचने का पूर्वानुमान है. चक्रवात ‘तौकते’ गुजरात के पोरबंदर और महुवा के बीच गुजरात के तट को 18 मई की सुबह क्रॉस करेगा. इस दौरान इसकी रफ़्तार 175 किमी प्रति घंटे तक हो सकती है. गुजरात के तटीय जिलों में भारी वर्षा होने की संभावना है, जिसमें जूनागढ़ और गिर सोमनाथ में अत्यधिक भारी वर्षा और सौराष्ट्र कच्छ और दीव जिलों में कुछ स्थानों पर भारी से बहुत भारी वर्षा शामिल है, जैसे गिर सोमनाथ, दीव, जूनागढ़, पोरबंदर , देवभूमि द्वारका, अमरेली, राजकोट, जामनगर. 

यह भी पढ़ें

एनडीआरएफ ने छह राज्यों में 42 टीमों को पहले से तैनात किया है जो नावों, पेड़ काटने वालों, दूरसंचार उपकरणों आदि से लैस हैं और 26 टीमों को स्टैंडबाय पर रखा है. भारतीय तटरक्षक बल और नौसेना ने राहत, खोज और बचाव कार्यों के लिए जहाज और हेलीकॉप्टर तैनात किए हैं. सेना की वायु सेना और इंजीनियर टास्क फोर्स इकाइयां, नौकाओं और बचाव उपकरणों के साथ तैनाती के लिए तैयार हैं. मानवीय सहायता और आपदा राहत इकाइयों के साथ सात जहाज पश्चिमी तट पर स्टैंडबाय पर हैं. 

पश्चिम रेलवे ने गुजरात के तटीय इलाके में 17 और 18 मई को आने-जाने वालीं 56 ट्रेनों को रद्द कर दिया है या फिर उन्हें गंतव्य के पहले ही समाप्त करने का फैसला किया है.  गृह मंत्रालय ने 17 और 18 मई को उत्तर पश्चिमी अरब सागर और गुजरात तट से मछली पकड़ने का कार्य पूरी तरह से स्थगित करने की सलाह दी. प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) की ओर से जारी एक बयान में कहा गया कि प्रधानमंत्री ने चक्रवात से जिन स्थानों के प्रभावित होने की संभावना है वहां के अस्पतालों में कोविड प्रबंधन, टीकाकरण, बिजली की कमी न हो, इसके उपाय और आवश्यक दवाओं के भंडारण के लिए विशेष तैयारियों की आवश्यकता पर बल दिया. 

 



Source link

Continue Reading

Hindi News

Moringa Vs Matcha: Who Is The Healthiest And Beneficial For Health Of Both Moringa And Matcha

Published

on

Moringa Vs Matcha: Who Is The Healthiest And Beneficial For Health Of Both Moringa And Matcha


Moringa Vs Matcha: Who Is The Healthiest And Beneficial For Health Of Both Moringa And Matcha

Matcha Vs Moringa: पोषण विशेषज्ञ मोरिंग के साथ माचा स्वैप करने की सलाह देती हैं

खास बातें

  • माचा चाय एंटीऑक्सिडेंट से भरी हुई है.
  • मॉर्निगा को आहार में शामिल करें यह आपको बहुत फाइबर देता है.
  • आप पोषण विशेषज्ञ के अनुसार माचा की बजाय मोरिंगा चुन सकते हैं.

Moringa Vs Matcha: पूरी दुनिया में माचा मौजूदा जुनून है. लाट्टे, चॉकलेट और आइसक्रीम के माध्यम से आपने कई लोगों के इस पसंदीदा स्वाद की चर्चा करते सुना होगा. हालांकि,  सेलिब्रिटी पोषण विशेषज्ञ पूजा मखीजा कहना है कि, माचा चुनने के लिए एक मजबूत विकल्प नहीं है. अपने नवीनतम इंस्टाग्राम वीडियो में, पूजा ने माचा के बजाय पोषक तत्वों से भरपूर मोरिंगा को चुनने की सिफारिश की. वीडियो पर चिपकाए गए नोट में लिखा है, “माचा ग्रीन टी के समान पौधे से आता है, लेकिन यह पूरे पत्ते से बना है, इसलिए इसमें एंटीऑक्सिडेंट और लाभकारी पौधों के यौगिकों की अधिक मात्रा होती है.

माचा या मोरिंगा? यहां बताया गया है कि आपके लिए सही क्या है

यह भी पढ़ें

पूजा ने कहा, “कटकीन, जो एंटीऑक्सिडेंट हैं, उन्हें सुपर हेल्दी बनाते हैं.” लेकिन भारत में हाई प्राइस प्वाइंट और सीमित उपलब्धता के कारण, वह हमें माचा से मोरिंगा पर जाने के लिए कहती हैं. क्लिप में मोरिंगा के फायदों के बारे में बताया गया है, “पारंपरिक रूप से गठिया, मिर्गी, डायबिटीज, हृदय रोग और किडनी की पथरी के लक्षणों से राहत के लिए भारत में एक हर्बल दवा के रूप में उपयोग किया जाता है.

 

पूजा के अनुसार, मोरिंगा में माचा की तुलना में “10 गुना अधिक फाइबर, 30 गुना अधिक प्रोटीन और 100 गुना अधिक कैल्शियम” होता है.

मोरिंगा, जिसे आमतौर पर ड्रमस्टिक कहा जाता है, सुपर लोकप्रिय ‘चमत्कार चाय’ के लिए भी काफी लोकप्रिय है. यह चाय मोरिंगा की पत्तियों से बनाई जाती है जो कई स्वास्थ्य के प्रति जागरूक लोगों की पसंदीदा होती है. यह फैट को घटाने में मदद करता है, ब्लड प्रेशर को नियंत्रित करता है और बालों और त्वचा की गुणवत्ता में भी सुधार करता है. मोरिंगा के पत्तों का सेवन नींबू और शहद के मिश्रण के साथ गर्म पानी के साथ भी किया जा सकता है.

degsarogMoringa Vs Matcha: मोरिंगा की पत्तियां प्रोटीन, विटामिन बी 6, विटामिन सी और आयरन से भरपूर होती हैं

कोलंबिया एशिया रेफरल अस्पताल के मुख्य आहार विशेषज्ञ पवित्रा एन राज ने कहा था, “मोरिंगा के पत्तों में क्वेरसेटिन होता है जो एक एंटीऑक्सिडेंट है जो रक्तचाप को कम करने में मदद करता है और एक अन्य एंटीऑक्सिडेंट क्लोरोजेनिक एसिड है जो ब्लड शुगर लेवल को स्थिर करता है. मोरिंगा में पाया जाने वाला क्लोरोजेनिक एसिड हो सकता है. शरीर को शुगर को बेहतर तरीके से प्रोसेस करने में मदद करता है और इंसुलिन को भी प्रभावित करता है.”

तो, क्या आप माचा को मोरिंगा से बदलने के लिए तैयार हैं?

(पूजा मखीजा एक पोषण विशेषज्ञ, आहार विशेषज्ञ और लेखक हैं)

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है. यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है. अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें. एनडीटीवी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है.





Source link

Continue Reading

Hindi News

Second Consignment Of Russian COVID-19 Vaccine Sputnik V Arrived In Hyderabad Today – रूसी वैक्सीन Sputnik V की दूसरी खेप पहुंची हैदराबाद, बना दुनिया का पहला ऐसा टीका…

Published

on

Second Consignment Of Russian COVID-19 Vaccine Sputnik V Arrived In Hyderabad Today – रूसी वैक्सीन Sputnik V की दूसरी खेप पहुंची हैदराबाद, बना दुनिया का पहला ऐसा टीका…


Second Consignment Of Russian COVID-19 Vaccine Sputnik V Arrived In Hyderabad Today – रूसी वैक्सीन Sputnik V की दूसरी खेप पहुंची हैदराबाद, बना दुनिया का पहला ऐसा टीका…

रूसी वैक्सीन Sputnik V की दूसरी खेप रविवार, 16 मई को तेलंगाना की राजधानी हैदराबाद में उतरी.

हैदराबाद:

कोरोनावायरस (Coronavirus) संक्रमण के खिलाफ रूसी वैक्सीन (Russian Vaccine) स्पूतनिक वी Sputnik V की दूसरी खेप आज (रविवार, 16 मई) तेलंगाना की राजधानी हैदराबाद में उतरी. इस मौके पर भारत में रूस के राजदूत, निकोले कुदाशेव (Nikolay Kudashev) ने COVID-19 के खिलाफ रूसी-भारतीय लड़ाई को विशेषाधिकार प्राप्त एक विशेष रणनीतिक साझेदारी और अंतरराष्ट्रीय महामारी विरोधी सहयोग के एक प्रभावी मॉडल के उदाहरण के रूप में करार दिया.

यह भी पढ़ें

समाचार एजेंसी ANI से रूसी दूत ने बताया, “हम यह देखकर बहुत खुश हैं कि कोविड ​​​​-19 के खिलाफ रूसी-भारतीय संयुक्त लड़ाई, जो आजकल हमारे द्विपक्षीय सहयोग के महत्वपूर्ण क्षेत्रों में से एक है, मजबूती से आगे बढ़ रही है.”

स्पुतनिक V दुनिया के सबसे बड़े COVID-19 टीकाकरण अभियान में योगदान देने वाला भारत में इस्तेमाल होने वाला पहला विदेशी निर्मित टीका बन गया है. 1 मई, 2021 को भारत में Sputnik V वैक्सीन के पहले बैच का आगमन हुआ था. उसके बाद हैदराबाद में शुक्रवार से Sputnik V टीकाकरण शुरू हुआ है.

दिल्ली सरकार स्पूतनिक वी वैक्सीन खरीदेगी, डॉ. रेड्डीज से साधा संपर्क : अरविंद केजरीवाल

रूसी राजदूत कुदाशेव ने कहा कि रूसी पक्ष द्वारा पिछले महीने दी गई जीवन रक्षक मानवीय सहायता का उपयोग भारतीयों को बीमारी के परिणामों से उबरने में मदद करने के लिए सफलतापूर्वक किया जा रहा है. उन्होंने कहा, “यह वास्तव में विशेष और विशेषाधिकार प्राप्त रणनीतिक साझेदारी का एक शानदार उदाहरण है और अंतरराष्ट्रीय महामारी विरोधी सहयोग का एक प्रभावी मॉडल है जो किसी भी अनावश्यक बाधाओं को नहीं जानता है.” 

कुदाशेव ने भारतीय टीकाकरण अभियान में रूसी वैक्सीन के हालिया लॉन्च के बाद स्पुतनिक वैक्सीन के दूसरे बैच की डिलीवरी को “बहुत समय पर” बताया है.

वीडियो- सिटी एक्सप्रेस : कोरोना मरीजों में ब्लैक फंगस का बढ़ता खतरा



Source link

Continue Reading

Trending