Connect with us

Hindi News

West Bengal Polls Result: Mamta Banerjees reply on PM Narendra Modis message – बंगाल चुनाव नतीजे: पीएम मोदी के बधाई के संदेश का ममता बनर्जी ने दिया जवाब…

Published

on

West Bengal Polls Result: Mamta Banerjees reply on PM Narendra Modis message – बंगाल चुनाव नतीजे: पीएम मोदी के बधाई के संदेश का ममता बनर्जी ने दिया जवाब…


West Bengal Polls Result: Mamta Banerjees reply on PM Narendra Modis message – बंगाल चुनाव नतीजे: पीएम मोदी के बधाई के संदेश का ममता बनर्जी ने दिया जवाब…

पश्चिम बंगाल में ममता बनर्जी के नेतृत्‍व में टीएमसी ने जोरदार जीत हासिल की है (फाइल फोटो)

खास बातें

  • कहा, केंद्र के निरंतर सहयोग की उम्‍मीद करती हूं
  • हम मिलकर कोरोना सहित सभी चुनौतियों से लड़ सकते हैं
  • केंद्र-राज्‍यों के संबंध में नए मानदंड स्‍थापित कर सकते हैं

नई दिल्ली:

West Bengal Assembly Election results: पश्चिम बंगाल के विधानसभा चुनाव में बीजेपी की चुनौती को पूरी तरह से ध्‍वस्‍त करते हुए ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) के नेतृत्‍व में तृणमूल कांग्रेस ने फिर सरकार बनाई है. ममता ने बुधवार को राज्‍य के मुख्‍यमंत्री के रूप में शपथ ली. वे लगातार तीसरी बार राज्‍य की सीएम बनी हैं. पश्चिम बंगाल के चुनाव में सत्‍तारूढ़ टीएमसी और बीजेपी के बीच कड़ा मुकाबला बताया जा रहा था लेकिन ममता के नेतृत्‍व में उनकी पार्टी ने सभी अनुमानों को झुठलाते हुए 292 में से 213 सीटों पर जीत हासिल की. बीजेपी के खाते में 77 सीटें ही आईं.

यह भी पढ़ें

बंगाल हिंसा : CM पद की शपथ के बाद ‘छोटी बहन ममता बनर्जी’ को राज्यपाल ने दिया सीधा-सीधा संदेश

चुनावों में टीएमसी की जीत के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने ममता दीदी को बधाई देते हुए केंद्र के पूरे सहयोग का आश्‍वासन दिया था. पीएम के ट्वीट के जवाब में ममता ने भी ट्वीट किया है और लिखा है, ‘धन्‍यवाद नरेंद्र मोदीजी. पश्चिम बंगाल के हित को ध्‍यान में रखते हुए मैं केंद्र सरकार के निरंतर समर्थन की उम्‍मीद करती हूं. मैं अपना पूरा सहयोग देते हुए उम्‍मीद करती हूं कि मिलकर हम कोरोना की महामारी और अन्‍य चुनौतियों के खिलाफ लड़ सकते हैं और केंद्र-राज्‍यों के संबंध में नए मानदंड स्‍थापित कर सकते हैं.’

असम-तमिलनाडु विधानसभा में घटी महिलाओं की ताकत पर केरल में बढ़ी, बंगाल में भी नहीं बदली सूरत

बंगाल चुनावों में टीएमसी की जीत के बाद रविवार को पीएम मोदी ने ट्वीट करके ममता बनर्जी को जीत पर बधाई दी थी. उन्‍होंने अपने ट्वीट में लिखा था, ‘पश्चिम बंगाल में तृणमूल कांग्रेस की जीत के लिए ममता दीदी को बधाई. केंद्र सरकार लोगों की आकांक्षाओं को पूरा करने के लिए और COVID-19 महामारी को दूर करने के लिए पश्चिम बंगाल सरकार को हरसंभव समर्थन देना जारी रखेगी.” बंगाल चुनाव में वैसे तो टीएसमसी ने जबर्दस्‍त जीत हासिल की है लेकिन इस दौरान ममता को अपनी नंदीग्राम सीट पर हार का सामना करना पड़ा. ममता को एक समय उनके महत्‍वपूर्ण सहयोगी रहे और अब बीजेपी में शामिल हो चुके शुभेंदु अधिकारी ने पराजित किया.

बंगाल : ममता बनर्जी ने तीसरी बार मुख्यमंत्री पद की शपथ ली





Source link

Hindi News

Through PM CARES Fund 1.5 Lakh Units Of Oxycare Systems Will Be Procured – PM-CARES Fund से खरीदे जाएंगे 1.5 लाख ऑक्सीकेयर सिस्टम, प्रधानमंत्री ने किया ट्वीट

Published

on

Through PM CARES Fund 1.5 Lakh Units Of Oxycare Systems Will Be Procured – PM-CARES Fund से खरीदे जाएंगे 1.5 लाख ऑक्सीकेयर सिस्टम, प्रधानमंत्री ने किया ट्वीट


Through PM CARES Fund 1.5 Lakh Units Of Oxycare Systems Will Be Procured – PM-CARES Fund से खरीदे जाएंगे 1.5 लाख ऑक्सीकेयर सिस्टम, प्रधानमंत्री ने किया ट्वीट

पीएम मोदी ने ट्वीट कर यह जानकारी दी.

खास बातें

  • ऑक्सीकेयर सिस्टम की खरीद
  • 1.5 लाख यूनिट की होगी खरीद
  • PM मोदी ने ट्वीट कर दी जानकारी

नई दिल्ली:

पीएम-केयर्स फंड (PM CARES Fund) से 322.5 करोड़ रुपये की लागत से 1.5 लाख ‘ऑक्सीकेयर’ सिस्टम की खरीद को मंजूरी दी गई है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) ने ट्वीट कर यह जानकारी दी. ‘ऑक्सीकेयर’ कोरोना मरीजों के ऑक्सीजन सैचुरेशन को देखते हुए शरीर में ऑक्सीजन के स्तर को पूरा करता है. यह मरीजों के ऑक्सीजन स्‍तरों के आंके गए माप के आधार पर उन्‍हें दी जा रही ऑक्सीजन को नियंत्रित रखने के लिए DRDO द्वारा विकसित की गई एक व्यापक प्रणाली है. इस सिस्टम को दो विन्यास में विकसित किया गया है. इसके मूल वर्जन में 10 लीटर वाला ऑक्सीजन सिलेंडर, एक प्रेशर रेगुलेटर-सह-फ्लो कंट्रोलर, एक ह्यूमिडिफायर और नाक के लिए एक लघुनलिका होती है.

यह भी पढ़ें

इस स्वीकृति के अंतर्गत 1 लाख पारंपरिक और 50 हजार स्वचालित ऑक्सीकेयर प्रणाली तथा नॉनब्रीदर मास्क खरीदे जा रहे हैं. इस प्रणाली को DRDO के डिफेंस बायोइंजीनियरिंग एंड इलेक्ट्रो मेडिकल लैबोरेट्री बैंगलोर द्वारा विकसित किया गया है. इस प्रणाली के दो वेरिएंट को विकसित किया गया है.

‘ऑक्सीकेयर’ ऑक्सीजन के प्रवाह को मैनुअल रूप से SpO2 की रीडिंग के आधार पर नियंत्रित या समायोजित किया जाता है. इसके इंटेलिजेंट विन्यास में मूल वर्जन के अलावा एक लो प्रेशर रेगुलेटर के जरिए ऑक्सीजन के स्वत: नियंत्रण या समायोजन के लिए एक प्रणाली, इलेक्ट्रॉनिक कंट्रोल प्रणाली और एक SpO2 प्रोब शामिल हैं.

SpO2 आधारित ऑक्सीजन नियंत्रण प्रणाली दरअसल मरीज के SpO2 स्तर के आधार पर ऑक्सीजन की खपत का अनुकूलन करती है और प्रभावकारी रूप से पोर्टेबल ऑक्सीजन सिलेंडर के उपयोग की निरंतरता को बढ़ा देती है. सिस्टम से प्रवाह शुरू करने के लिए SpO2 की आरंभिक सीमा वाले माप या मान को स्वास्थ्य कर्मचारियों द्वारा समायोजित किया जा सकता है और सिस्टम द्वारा SpO2 के स्तर की निरंतर निगरानी करने के साथ-साथ इसे दर्शाया भी जाता है.

DRDO की कोरोनारोधी दवा के आपात इस्तेमाल को मिली मंजूरी, आसानी से ली जा सकेगी खुराक

इन ऑक्सीकेयर सिस्टम का उपयोग घरों, क्‍वारंटाइन केंद्रों, कोविड केयर केंद्रों और अस्पतालों में किया जा सकता है. इसके अलावा, ऑक्सीजन का ज्‍यादा प्रभावकारी उपयोग सुनिश्चित करने के लिए नॉन-रिब्रीथर मास्क (एनआरएम) को ऑक्सीकेयर सिस्टम के साथ एकीकृत किया जाता है, जिसके परिणामस्वरूप 30-40 फीसदी ऑक्सीजन की बचत संभव हो जाती है.

DRDO ने भारत में कई कंपनियों को यह तकनीक हस्तांतरित की है, जो पूरे भारत में सभी के उपयोग के लिए ऑक्सीकेयर सिस्टम तैयार करेंगी.

VIDEO: ऑक्सीजन संकट पर दिल्ली हाईकोर्ट ने केंद्र को लगाई फटकार





Source link

Continue Reading

Hindi News

Corona News Three Percent Decrease In Jobs Related Activity Amid The Second Wave Of Epidemic – महामारी की दूसरी लहर के बीच नौकरियों से जुड़ी गतिविधि में तीन प्रतिशत कमी

Published

on

Corona News Three Percent Decrease In Jobs Related Activity Amid The Second Wave Of Epidemic – महामारी की दूसरी लहर के बीच नौकरियों से जुड़ी गतिविधि में तीन प्रतिशत कमी


Corona News Three Percent Decrease In Jobs Related Activity Amid The Second Wave Of Epidemic – महामारी की दूसरी लहर के बीच नौकरियों से जुड़ी गतिविधि में तीन प्रतिशत कमी

कोरोना की दूसरी लहर में रोजगार से जुड़ी गतिविधि में तीन प्रतिशत कम हुई।

नई दिल्ली:

भारत में कोविड-19 महामारी की दूसरी लहर के आने और उसके बाद कई जगहों पर लॉकडाउन लगाए जाने के साथ ही अप्रैल में नौकरियों की जानकारी संबंधी गतिविधि में तीन प्रतिशत की कमी आयी. एक रिपोर्ट में यह जानकारी दी गयी.

मॉन्स्टर एम्प्लॉयमेंट इंडेक्स के मुताबिक रोजगार सूचकांक में मार्च की तुलना में नौकरियां की सूचना डालने (पोस्टिंग) की गतिविधि में तीन प्रतिशत की कमी देखी गयी.

यह भी पढ़ें

अप्रैल 2020 की तुलना में अप्रैल 2021 में सालाना स्तर पर नौकरियों की कुल पोस्टिंग में भी चार प्रतिशत की गिरावट दर्ज की गयी. मॉन्स्टर एम्प्लॉयमेंट, इंडेक्स मॉन्स्टर इंडिया द्वारा नौकरियों के बारे में ऑनलाइन सूचना डाले जाने को लेकर किया गया एक व्यापक विश्लेषण है. इसमें कहा गया कि नौकरियों की कुल पोस्टिंग में कमी के बावजूद कुछ शहरों में कुछ उद्योगों के लिहाज से स्थिति अलग थी.

चेन्नई और हैदराबाद में विज्ञापन, बाजार अनुसंधान, जन संपर्क जैसे क्षेत्रों में 50 प्रतिशत से ज्यादा सालाना वृद्धि दर्ज की गयी. कोलकाता में बैंकिंग या वित्तीय सेवाओं, बीमा क्षेत्रों में मार्च की तुलना में अप्रैल में 26 प्रतिशत की वृद्धि देखी गयी, हालांकि कुल नौकरियों की पोस्टिंग में वृद्धि स्थिर रही. बेंगलुरू (28 प्रतिशत), हैदराबाद (23 प्रतिशत) और चेन्नई (16 प्रतिशत) में नियुक्ति की सालाना गतिविधि से अप्रैल में नौकरियों की सूचना में मजबूत तेजी का पता चलता है.

सालाना संख्या को लेकर स्थिति अब भी सकारात्मक है क्योंकि अप्रैल 2020 भी कोविड-19 की वजह से प्रभावित हुआ था. मॉन्स्टरडॉटकॉम के सीईओ शेखर गरिसा ने कहा, “महामारी की दूसरी लहर और देश भर में अलग-अलग स्तर के लॉकडाउन से नियुक्ति की गतिविधियों पर असर पड़ा है. हालांकि बेंगलुरु, हैदराबाद और चेन्नई जैसे कुछ शहरों में नियुक्ति संबंधी गतिविधियों में सकारात्मक वृद्धि देखी गयी है और कुछ क्षेत्रों एवं कामों में सालाना वृद्धि दर्ज की गयी है.”

हॉट टॉपिक : UP में धूल फांक रहे PM CARES Fund के वेंटिलेटर

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)



Source link

Continue Reading

Hindi News

Pm Narendra Modi Chaired High Level Meeting To Review Availability Supply Of Oxygen And Medicines Also Discuss Black Fungus – कोरोना संकटः ऑक्सीजन और दवा को लेकर पीएम मोदी ने की हाई लेवल मीटिंग, ब्लैक फंगस पर भी हुई चर्चा

Published

on

Pm Narendra Modi Chaired High Level Meeting To Review Availability Supply Of Oxygen And Medicines Also Discuss Black Fungus – कोरोना संकटः ऑक्सीजन और दवा को लेकर पीएम मोदी ने की हाई लेवल मीटिंग, ब्लैक फंगस पर भी हुई चर्चा


Pm Narendra Modi Chaired High Level Meeting To Review Availability Supply Of Oxygen And Medicines Also Discuss Black Fungus – कोरोना संकटः ऑक्सीजन और दवा को लेकर पीएम मोदी ने की हाई लेवल मीटिंग, ब्लैक फंगस पर भी हुई चर्चा

ऑक्सीजन और दवा को लेकर पीएम मोदी ने की हाई लेवल मीटिंग।

नई दिल्ली:

कोरोना की दूसरी लहर (Corona Second Wave) से पूरे देश की स्वास्थ्य व्यवस्था चरमरा गई है. ऑक्सीजन (Oxygen) और दवाओं की कमी को लेकर रोज लापरवाही के मामले सामने आ रहे हैं. इस बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) ने कोरोना मरीजों को दी जा रही मेडिकल सुविधाओं की समीक्षा के लिए उच्च स्तरीय बैठक की है. पीएम ने बैठक में ऑक्सीजन और दवाओं की उपलब्धता और इसकी आपूर्ति की समीक्षा की. बैठक में जानकारी दी गई कि पहली लहर के चरम के मुकाबले अभी दूसरी लहर के दौरान ऑक्सीजन की सप्लाई 3 गुना से अधिक है. पीएमओ के मुताबिक पीएम को जानकारी दी गई कि सरकार कोविड के प्रबंधन के साथ-साथ म्यूकोर्मोसिस में इस्तेमाल की जा रही दवाओं की आपूर्ति की भी सक्रिय रूप से निगरानी कर रही है.

यह भी पढ़ें

बैठक में प्रधानमंत्री ने अधिकारियों को निर्देश दिया है कि राज्य सरकारों को समयबद्ध तरीके से वेंटिलेटर के संचालन के लिए कहा जाये. पीएम ने कहा कि राज्य सरकारें वेंटिलेटर निर्माताओं की मदद से तकनीकी और प्रशिक्षण मुद्दों को हल करने की पहल करें. पीएम की तरफ से ये निर्देश ऐसे वक्त पर आया है जब पंजाब सरकार के मुताबिक प्रधानमंत्री केयर फंड की तरफ से राज्य को सप्लाई किए गए 809 वेंटिलेटर में से 309 नॉन-ऑपरेशनल हैं और 174 नॉन-फंक्शनल हैं.

पीएमओ की तरफ से जारी एक रिलीज के मुताबिक बैठक में पीएम ने देश में ऑक्सीजन की उपलब्धता और आपूर्ति की स्थिति का जायजा लिया. पीएम को ऑक्सीजन कंसंट्रेटर्स, ऑक्सीजन सिलेंडरों की खरीद की स्थिति के साथ-साथ देश भर में लगाए जा रहे पीएसए प्लांट्स की स्थिति के बारे में भी बताया गया. बैठक में भारतीय रेल की ऑक्सीजन ट्रेनों और वायुसेना के विमानों द्वारा देश के अलग-अलग हिस्सों में की जा रही ऑक्सीजन की सप्लाई के बारे में भी बताया गया. अभी तक 100 ऑक्सीजन एक्सप्रेस ट्रेनों की मदद से 9 राज्यों को मेडिकल ऑक्सीजन की सप्लाई की जा चुकी है.

पीएमओ के मुताबिक पीएम को जानकारी दी गई कि सरकार कोविड के प्रबंधन के साथ-साथ म्यूकोर्मोसिस में इस्तेमाल की जा रही दवाओं की आपूर्ति की भी सक्रिय रूप से निगरानी कर रही है. मंत्री ने पीएम को अपडेट किया कि वे उत्पादन बढ़ाने और सभी प्रकार की आवश्यक मदद का विस्तार करने के लिए निर्माताओं के साथ नियमित संपर्क में हैं. बैठक में राज्यों को सप्लाई की जा रही दवाओं और पिछले कुछ हफ्तों में रेमेडेसिविर सहित सभी दवाओं के उत्पादन में हुई बढ़ोतरी की भी समीक्षा की गयी.

हॉट टॉपिक : UP में धूल फांक रहे PM CARES Fund के वेंटिलेटर



Source link

Continue Reading

Trending